वेब डिजाइनिंग से कैरियर में आगे बढ़ने के ऑप्शंस
वेब डिजाइनिंग 

आज वेब डिजाइनिंग आईटी का एक महत्वपूर्ण अंग बन चुकी है। इसमें कई रोचक और रचनात्मक कैरियर के अवसर भी छुपे हैं।

टेक्नोलॉजी के निरंतर विकास के साथ कंप्यूटर क्रांति लाया है।कंप्यूटर लोगों के लिए संचार की ऐसी सुविधा लाया है, जिसमें इंटरनेट के जरिए वेबसाइट्स से कुछ भी सर्च करने का माद्दा है। बस एक क्लिक मात्र करने से ज्ञान का भंडार आपके सामने खुल जाता है। लेकिन इसके पीछे कई रोचक और रचनात्मक कैरियर बनाने के अवसर भी छुपे है। आकर्षक लुक और कंटेंट को डिज़ाइन करने में वेबसाइट डिज़ाइनर का अहम रोल होता है। वेब डिज़ाइनर किसी भी वेबसाइट का छवि निर्माणकर्ता होता है। ब्रूस और पेंट की जगह पिक्सल और पॉइंटर उसके औजार होते हैं।


वेब डिज़ाइनर का काम

वेबसाइट को एक स्किल्ड डिज़ाइनर ही आकर्षक रूप देता है। इसका मुख्य पेज ही पाठकों को आकर्षित करता है। डिजाइनिंग के काम के लिए वे लोग सही हैं, जिन्हें नए ट्रेंड के अनुसार वेबसाइट डिज़ाइन करना और उसमें कंटेंट प्रस्तुत करना आता है। रचनात्मक्ता इस क्षेत्र में सफलता की पहली सीढ़ी है।


नेचर ऑफ वर्क

वेब डिज़ाइनर नित नए प्रोजेक्ट्स को नए स्वरूप के साथ पेश करता है। वेब डिजाइनिंग के अंतर्गत नीड एनलाइसिस, सल्यूशन डिजाइनिंग, वेब कंटेंट राइटिंग, वेब कंटेंट प्लानिंग, प्रोडक्ट फोटोग्राफी, ग्राफिक डिजाइनिंग, फ़्लैश एचटीएमएल कोडिंग तथा जावा स्क्रिप्ट आदि आते हैं।


विशेष प्रोग्राम होते हैं डवलप 

वेबसाइट डवलपर विशेष प्रोग्राम तैयार करता है। वेबसाइट का डेटा बेस बनाना और प्रोग्रामिंग करना बड़ी जिम्मेदारी होती है। उसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे एएसपी, पीएचपी की पूरी जानकारी होनी चाहिए। उसे एचटीएमएल स्क्रिप्ट पर काम करना आना चाहिये। कुछ स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज की जानकारी होनी भी आवश्यक है। आजकल इस फील्ड में जावा स्क्रिप्ट, डीओएम, एचटीएमएल और सीएमएस टेक्नोलॉजी ज्यादा लोकप्रिय हो रही है।


कोन-कोनसे कर सकते हैं कोर्स 

डिप्लोमा इन ग्राफिक एवं डिज़ाइन, सर्टिफिकेट कॉर्स इन वेब डिज़ाइन एंड वेब प्रोडक्शन , बीए इन मल्टीमीडिया, बीए वीएफएक्स एन्ड एनिमेशन, सर्टिफिकेट इन वेब डिज़ाइन, ग्राफ़िक एंड वेब डिज़ाइन शॉर्ट टर्म कोर्सेज, डिप्लोमा इन एडवांस लेवल वेब डिजाइनिंग एंड वेब प्रोडक्शन।


शैक्षणिक योग्यता 

इससे जुड़ी बैचलर डिग्री में दाखिले के लिए किसी भी विषय से 50% अंकों के साथ 12वीं पास होना जरूरी है। सर्टिफिकेट, डिप्लोमा एवं पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा भी इसमें किए जा सकते हैं। खास बात यह है कि इसमें आर्ट्स, कॉर्मस और साइंस, किसी भी विषय के विद्यार्थी प्रवेश ले सकते हैं।

कहाँ है काम करने की संभावनाएं

वेब डिज़ाइनर के लिए प्रिंट मीडिया(समाचार पत्र, पत्रिका, विज्ञापन, प्रकाशन हाउस), ऑनलाइन कैम्पेन तथा सोशल मीडिया में कई संभावनाएं है। मल्टीनेशनल कंपनियों व मार्केटिंग फर्म में अच्छे मोके हैं। ऑडियो विजुअल मीडिया, डिज़ाइन स्टूडियो आदि में भी कम मिल सकता है। वेबसाइट डवलपर, प्रोडक्शन कोऑर्डिनेटर, वेब प्रोडक्शन मैनेजर, इंटरैक्टिव प्रोडक्शन आर्टिस्ट भी खास है।


प्रमुख संस्थान

इंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली

जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली 

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डिज़ाइन, अहमदाबाद

माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी, भोपाल

टीजीसी एनीमेशन एंड मल्टीमीडिया, जयपुर

   

आमदनी का जरिया

एक वेब डिज़ाइनर को शुरुआती सैलेरी 15 से 20 हजार रुपये तक मिल जाती है, लेकिन अनुभव, कार्यक्षमता एवं दक्षता के आधार पर सैलेरी में इजाफा भी होता रहता है।

Must read

Best speaking skills

फेक ऑनलाइन जॉब को कैसे पहचानें

0 Comments